Avaiz Ahmad

इंसानियत का नाता ही अम्बेडकरवाद है।
मानव गरिमा (human dignity) के लिये चलाया गया आंदोलन ही अम्बेडकरवाद है।

अम्बेडकरवाद देश की सबसे प्रतिभाशाली और विकसित विचारधारा का नाम है, भारत देश में ऐसी कोई समस्या नहीं है जिसका समाधान अम्बेडकरवाद में ना हो।

अम्बेडकरवाद ही राष्ट्रवाद हैं !!

- Avaiz Tazim Ahmad

Avaiz Tazim Ahmad, an Indian politician and a young supporter of Dr. Bhim Rao Ambedkar’s vision. A member of National Core Committee at Azad Samaj Party. He is also the Chairman & Trustee of The Human Diary Foundation, President of the Lion Group of India. – Yuva Ekta Mission, dedicated to the nation. An organisation of Social Justice, Social Reform, Social Equality. Through his organisation he focuses and works in the field of healthcare, education and employment. The organisation runs a campaign of Free wheelchair distribution to specially-abled, where they provide 1000 wheelchair every year.

He is working on the legacy of Dr. Babasaheb Ambedkar and Dr. APJ Abdul Kalam. Avaiz Ahmad firmly believes in the saying, “Humanity is the only Religion.” His dream is to have a country with free education and healthcare services. His vision is to create an India that embraces and encourages equality, diversity, unity, sustainable development, and limited drug usuage.

Avaiz Ahmad and Chandrashekhar Azad have come together to work on Ambedkar movement as they battle for the rights of minority. Avaiz Ahmad being the member of National Core Committee at Azad Samaj Party have participated in many campaigns for the 2022 Uttar Pradesh Legislative Assembly Elections. Together they have established a media company under the name of CA News Network Pvt. Ltd., Chandrashekhar being the Founder, Avaiz Ahmad as the Chairman and Jatin Goraya as the CEO. Their next aim is to launch a newspaper, that covers social causes. By means of this newspaper, both will try to accomplish the mission of Dr. Ambedkar and Kanshiram.

People who have the Strength to change the history are still alive! 

To serve the country’s real natives– Scheduled Castes, Scheduled Tribes, Other Backward Classes (OBCs) and religious minorities-and encourage activities for their overall development.

Special Inclination : Educate and organise the poor, oppressed and impoverished sections of the society to fight for their legal and constitutional rights.

“Justice for all, equality for all, prosperity for all”

— Is my vision for India 

हम ऐसे भारत की कल्पना करते है जिसमे सभी लोग आर्थिक संपन्न हो और भारत विकासशील देश ना होकर बल्कि विकसित देश बने. हम एक समृद्ध भारत की कल्पना करते है और ऐसे ही भारत का सपना बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर और डॉ ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम साहब ने देखा था और उन्ही के विचारधारा पर लॉयन ग्रुप ऑफ़ इंडिया’ (संगठन) का निर्माण हुआ है. बाबा साहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर जी की विचारधारा व डॉ ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम साहेब जी जैसी सफल मुख्यधारा को आगे बढ़ाने के लिए लॉयन ग्रुप ऑफ़ इंडिया (संगठन) संविधान की रक्षा कर देश के सभी राज्यों में महिलाएं व युवाओं नाबालिग बच्चों के लिए सामाजिक न्याय (भ्रष्टाचार मुक्त) व विधि व्यवस्था के लिए संघर्ष कर रहा है I संगठन भारतीय “मौलिक अधिकार” को लेकर जन जागरूकता अभियान चला रहा है साथ ही चिकित्सा शिक्षा एवं स्वास्थ्य सेवा रोज़गार व व्यवस्था, में हर वर्ग के लिए सामाजिक कार्य करने में संगठन पूरी तरह से अपना सहयोग दे रहा है I

साथ ही संगठन निशुल्क एम्बुलेंस सेवा (मोहल्ला क्लीनिक) फ्री व्हीलचेअर मिशन व राष्ट्र निर्माण के लिए… नशा मुक्त हो युवा जगत पर आधारित “एक युद्ध…. नशे के विरुद्ध” !! जन जागरुकता अभियान चला रहा हैं व अन्य पाँच राज्यों में नशे के खिलाफ पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाने को लेकर एक हेल्पलाइन नंबर जारी कर नशे में लिप्त युवाओ को नशा मुक्ति केंद्र भेज कर संगठन द्वारा निःशुल्क उपचार क्या जा रहा हैं

लॉयन ग्रुप ऑफ़ इंडिया ने “मौलिक अधिकार” को लेकर जन जागरूकता अभियान चला कर जगह जगह पैम्फलेट बांटने का कार्य कर रही हैं साथ ही भारत सरकार से माँग की है कि कॉलेज के सिलेबस मे मौलिक अधिकारों को अनिवार्य करे I

युवा एकता मिशन, राष्ट्र को समर्पित!
  • गैर बराबरी वाली व्यवस्था को बदलकर समतायुक्त मानवतावादी व्यवस्था की निर्मित करना अम्बेडकरवाद है।
  • मानव का इसी जन्म में कल्याण करने वाली विचारधारा अम्बेडकरवाद है।
  • -डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर विदेश जाकर अर्थशास्त्र में डॉक्टरेट (PhD) की डिग्री हासिल करने वाले पहले भारतीय थे।
  • -डॉ. अम्बेडकर ही एकमात्र भारतीय हैं जिनकी प्रतिमा लन्दन संग्रहालय में कार्ल मार्क्स के साथ लगी हुई है।
  • -भारतीय तिरंगे में “अशोक चक्र” को जगह देने का श्रेय भी डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर को जाता है।
  • -गवर्नर लॉर्ड लिनलिथगो और महात्मा गांधी का मानना था कि बाबासाहेब 500 स्नातकों तथा हजारों विद्वानों से भी अधिक बुद्धिमान हैं
  • बाबासाहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर की पर्सनल लाइब्रेरी दुनिया की सबसे बड़ी व्यक्तिगत लाइब्रेरी थी, जिसमे 50 हज़ार से अधिक पुस्तकें थीं.
  • बाबासाहेब का पहला स्टेच्यु (Statue) उनके जीवित रहते हुए ही 1950 में बनवाया गया था, और यह Statue कोल्हापूर शहर में है।

Dr. B.R. Ambedkar

The Champion Of Women’s Rights. He tried an adequate inclusion of women’s right in the political vocabulary and constitution of India

Article 14

Equal rights and opportunities in political, economic and social spheres.

Article 15(3)

Enables affirmative discrimination in favour of women.

Article 42

Human conditions of work and maternity relief.

Article 46

The state to promote with special care, the educational and economic interests of weaker section of people and to protect them from social injustice and all forms of exploitation.

Article 243D (3), 243R (4)

Human conditions of work and maternity relief.

Article 15

Prohibits discrimination on the ground of sex.

Article 39

Equal means of livelihood and equal pay for equal work.

Article 51 (A) (C)

Human conditions of work and maternity relief.

Article 47

The state to raise the level of nutrition and standard of living of its people and the improvement of public health and so on. 

Article 243 T(3)

Not less than one third of the total number of seats to be filled by direct election in every Municipality shall be reserved for women.